मुख्य पृष्ठ पर्यावरणीय मॉनीटरन व अध्ययन
 
पर्यावरणीय मॉनीटरन व अध्‍ययन

प्रत्येक न्यूक्लियर विद्युत संयंत्र स्थल पर, पर्यावरण सर्वेक्षण प्रयोगशालाएं (ईएसएल) स्थापित की गई हैं जिनका प्रचालन एक स्वतंत्र संगठन, भाभा परमाणु अनुसंधान संस्थान, मुंबई की स्वास्थ्य भौतिकी इकाई द्वारा किया जाता है। वर्तमान न्यूक्लियर विद्युत संयंत्र स्थलों पर रेडियोधर्मिता के सक्रियता स्तर का विश्लेषण करने के लिए ईएसल द्वारा संयंत्र स्थल क्षेत्र के 30 किमी के दायरे में विभिन्न पर्यावरणीय विशिष्टताओं के नमूने एकत्र किए जाते रहे हैं। इनकी रिपोर्टों से निष्कर्ष निकला है कि देश के वर्तमान न्यूक्लियर विद्युत संयंत्र स्थलों की चारदिवारी के समीप निवास करने वाली जनता को मिलने वाली डोज़ एईआरबी द्वारा प्राधिकृत डोज़ की लगभग 1.5 % है और यह प्राकृतिक पृ‍ष्ठभूमि से मिलने वाले विकरण का एक अल्पांश मात्र है। कुछ और दूरी पर यह डोज़ और भी कम हो जाती है।

न्यूक्लियर विद्युत संयंत्र स्थलों पर पर्यावरणीय अध्ययन जैसे संघनित शीतलक जल निस्तारण अध्ययन, तापीय पर्यावरणीय अध्ययन आदि भी किए जाते हैं ताकि पर्यावरणीय मानकों तथा विभिन्न विनियामक एजेंसियों जैसे पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, एईआरबी, राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पर्यावरणीय अनुमतियों में विहित निदेशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जा सके। इन अध्ययन से स्पष्ट हो चुका है कि न्यूक्लियर विद्युत संयंत्र स्थलों से निकलने वाले तापीय निस्सरण का जलीय पर्यावरण पर प्रभाव एक अत्यंत छोटे क्षेत्र पर रहता है और इसे परिवर्तित किया जा सकता है।

     
 
जानपदिक अध्ययन